ALL political social sports other crime current religious administrative
सरकारी भवनों में क्वारंटाइन करने पर ग्राम प्रधान ले सकेंगे दस हजार
May 22, 2020 • Sharwan kumar jha • administrative

हरिद्वार। पंचायतों में बाहर से आने वाले प्रवासियों को घर से बाहर सरकारी भवनों में क्वारंटाइन करने पर ग्राम प्रधान 10 हजार रुपये ले सकेंगे। जिलाधिकारी सी. रविशंकर की ओर से जारी आदेशों में यह भी कहा गया है कि वह बाहर से आने वाले प्रवासियों की सूचना भी रोजाना दें। जिलाधिकारी सी. रविशंकर की ओर से ग्राम प्रधानों को जारी पत्र में अभी तक उनकी ओर से कोरोना रोकथाम के लिए किए गए कार्यों की सराहना करते हुए धन्यवाद दिया है। साथ ही कहा कि लॉकडाउन 4 में प्रवासियों को गृह जनपदों में लाने की व्यवस्था की जा रही है। इसके चलते बड़ी संख्या में प्रवासी गांवों में पहुंच रहे हैं। इससे प्रधानों की जिम्मेदारी अब और भी बढ़ गई है। इसलिए वह रोजाना पंचायतों में बाहर से आने वाले प्रवासियों की संख्या पंचायत सचिव के माध्यम से प्रशासन को उपलब्ध कराएं ताकि इन लोगों की जांच आदि की जा सके। जिलाधिकारी ने कहा कि अगर कोई प्रवासी अपने घर में अलग से क्वारंटाइन होने और खाने-पीने की व्यवस्था करने में सक्षम नहीं है तो ऐसे प्रवासियों के लिए सरकारी स्कूल, पंचायत घर आदि सरकारी भवनों में व्यवस्था की जाए। जो प्रवासी भोजन आदि की व्यवस्था नहीं कर सकते हैं, उनके लिए बिल प्रस्तुत करने पर 10 हजार रुपये का बजट जारी कर दिया जाएगा। इसके अलावा सरकारी भवनों की मरम्मत, पेयजल, बिजली, शौचालय आदि जरूरी सुविधाओं के लिए केंद्र और राज्य सरकार से आने वाले बजट या पंचायत को होने वाली आय से खर्च किए जा सकते हैं। प्रधानों से जागरूकता संदेश, कीटनाशकों का छिड़काव भी लगातार पंचायतों में करते रहने को कहा है। उन्होंने प्रवासियों को क्वारंटाइन करने से लेकर कोरोना वायरस संक्रमण को गांवों में फैलने से रोकने के लिए 28 मई तक सुझाव भी भेजने को ग्राम प्रधानों से कहा है। जिला पंचायत राज अधिकारी आरसी त्रिपाठी ने बताया कि प्रधानों से गांवों में कोरोना को रोकने के लिए हर समय सतर्क रहने की अपील की गई है, ताकि कोरोना का असर पंचायतों पर न पड़े सके।