ALL political social sports other crime current religious administrative
शिक्षक अपने विषय का वीडियों बनाकर विभागध्यक्ष के माध्यम से यूट्यूब पर अपलोड करें
May 19, 2020 • Sharwan kumar jha • other

गुकाविवि के कुलाधिपति ने गुगल मीट के दौरान कहा,खर्चा में करे कटौती

हरिद्वार। गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डा. सत्यपाल सिंह ने गुगल मीट के माध्यम से आत्मनिर्भर भारत में व्यक्ति, संस्था, शिक्षा और समाज के विषय पर विश्वविद्यालय के कुलपति, कुलसचिव, संकायाध्यक्ष, विभागाध्यक्ष और प्रोफेसर को सम्बोधित करते हुए कहा कि स्वामी श्रद्धानन्द महाराज जी ने विश्वविद्यालय के स्थापना के दौरान वातावरण शुद्धि और यज्ञ को बढ़ाने का सपना देखा था, आज वह सपना देश और दुनिया में साकार हो रहा है। देश कोरोना की महामारी से जुझ रहा है, वहीं शिक्षा के क्षेत्र में अद्वितीय परिवर्तन हो रहे हैं। उन्होंने मीट में सभी प्राध्यापकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि विश्वविद्यालय के सभी शिक्षक अपने विषय का वीडियो बनाकर विभागाध्यक्ष के माध्यम से यू टयूब पर अपलोड करायें। अच्छे वीडियों से गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय का नाम देश की 100 विश्वविद्यालयों में जुड़ने का एक समन्वय स्थापित करेंगा, जिससे शिक्षक का सम्मान देश और दुनिया में बढ़ेगा। संग्रह ज्ञान को लेकर अच्छे शोध पत्र और आलेख 3 महिनों में राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय शोध पत्रिकाओं में प्रकाशित कराए जायें। यह काम विज्ञान विभाग के शिक्षकों को अवश्य करना चाहिए। गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय में अच्छी रिसर्च करने वालों को बेस्ट रिसचर्स का एवार्ड घोषित किए जाए। उन्होंने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था बिगड रही है। इसलिए विश्वविद्यालय अपने मदों में कटौती अवश्य करे। अच्छे शिक्षक और अच्छे कर्मचारियों को विश्वविद्यालय में काम करने का अवसर दिया जाए तथा जो अच्छा काम नहीं कर रहे है उनके काम में सुधारात्मक पहल करायी जाए। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 रूपकिशोर शास्त्री ने कुलाधिपति डा0 सत्यपाल सिंह का बहुमुखी व्यक्तित्व पर प्रकाश डालते हुए बताया कि डा0 सत्यपाल सिंह आत्मनिर्भर भारत में व्यक्ति, संस्था, शिक्षा और समाज विषय पर विश्वविद्यालय के सभी शिक्षकों को सम्बोधित किया। उन्होंने देश और दुनिया में वेदों, उपनिषदों और पुराणों को लेकर व्याख्यान दिए है। समाज और देश के प्रति उनका समर्पण आज भी किसी से छिपा नहीं है। सभी शिक्षक उनके बताए हुए रास्ते पर चलने का अनुकरण करें। विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो0 दिनेश चन्द्र भट्ट ने कहा कि कुलाधिपति की गुगल मीट सभी अध्यापकों के लिए मील का पत्थर साबित होगी। इस मीट से आध्यापकों के अन्दर कार्य करने की क्षमता बढ़ेगी और शोध के क्षेत्र में विश्वविद्यालय अग्रसर होगा। बेस्ट कर्मचारी और बेस्ट टीचर का एवार्ड पिछली 26 जनवरी से ही देना शुरू कर दिया है। इस तरह के एवार्ड शुरू होने से शिक्षक और कर्मचारियों के अन्दर कार्य करने की क्षमता में बढ़ोत्तरी होगी। आज करीब 131 शिक्षकों ने मीट में अपनी सहभागियों निभाई। यह कार्यक्रम स्वयं कमेटी के अध्यक्ष प्रो0 पंकज मदान के संयोजन से पूर्ण हुआ है।