ALL political social sports other crime current religious administrative
श्रावण माह में भगवान शिव का जलाभिषेक से विशेष कृपा व आशीर्वाद मिलती है
July 12, 2020 • Sharwan kumar jha • religious

हरिद्वार। श्री दक्षिण काली पीठाधीश्वर महामण्डलेश्वर स्वामी कैलाशानंद ब्रह्मचारी महाराज ने कहा कि महादेव शिव सर्वव्यापी है। सच्चे मन से महादेव का जलाभिषेक व भक्ति करने से वे अपने भक्त को धन्य धान्य से भरपूर कर देते है। मन्दिर प्रांगण में आयोजित भगवान शिव के विशेष अनुष्ठान के दौरान उन्होंने कहा कि भक्तों पर सदैव कृपा करने वाले भगवान शिव को श्रावण माह विशेष प्रिय है। श्रावण माह में भगवान शिव का जलाभिषेक करने से उनकी विशेष कृपा व आशीर्वाद प्राप्त होता है। साधक का आध्यात्मिक उत्थान होता है जिससे जीवन की सभी परेशानियों का अंत हो जाता है। उन्होंने कहा कि भगवान भोलेनाथ एक माह तक हरिद्वार में रहकर सृष्टि का संचालन करते हैं। श्रावण मास में पुष्पों से शिवलिंग का श्रंग्रार का गंगा जल, गौदुग्ध, गौघृत, शहद, दही, इत्र, खस, भांग, चंदन, भस्म, गुलाब जल, नारियल जल आदि से महादेव का जलाभिषेक करने भगवान शिव के साथ माता पार्वती की भी कृपा साधक को प्राप्त होती है। भगवान शिव को श्रावण मास अतिप्रिय है। इसलिए श्रावण में वे शिवभक्तों पर कृपा करने के लिए अपने गण रूप में भक्तों को दर्शन की अनुभूति कराते हैं। श्रावण मास में शिव एवं शक्ति के अनुष्ठान से साधक और भक्तों को आत्मशांति की प्राप्ति होती है। इस दौरान इस दौरान आचार्य पवनदत्त मिश्र, पंडित प्रमोद पाण्डे, स्वामी विवेकानंद ब्र्हम्मचारी, बालमुकुंदानंद ब्रह्मचारी, अंकुश शुक्ला, सागर ओझा, अनूप भारद्वाज, पंडित शिवकुमार शर्मा आदि मौजूद रहे।