ALL political social sports other crime current religious administrative
श्रीकृष्ण जनमाष्टमी पर इस बार सार्वजनिक जगहों पर भगवान की झांकी नहीं सजी
August 11, 2020 • Sharwan kumar jha • religious

हरिद्वार। नगर में मंगलवार और बुधवार को मनाई जाने वाली श्रीकृष्ण जनमाष्टमी पर इस बार सार्वजनिक जगहों पर भगवान की झांकी नहीं सजी। मंदिरों में सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन के अनुसार भक्तगण दर्शन कर सकें। पीएसी और पुलिस लाइन में होने वाले जन्माष्टमी के कार्यक्रमों को पहले ही रद कर दिया गया। कोरोना काल में पहले ही धर्मनगरी के कई स्नान रद हो चुके हैं। अब तक श्रीकृष्ण जन्माष्टमी में सजने वाली झांकियों को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई थी। रविवार को ही पुलिस ने साफ किया है कि सार्वजनिक स्थानों पर होने वाले सामूहिक झांकियां इस बार नहीं लग सकेंगी। सरकार की ओर से जारी नियमों के अनुसार सामूहिक कार्यक्रमों पर रोक लगाई है। इस कारण मंदिरों में सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखते हुए दर्शन करने होंगे। मंदिर में भगवान की एक झांकी लगाई जा सकती है। उत्तरी हरिद्वार से लेकर ज्वालापुर तक के विशेष मंदिरों में पुलिस की ड्यूटी भी लगाई जाएगी। इस साल इस्कॉन मंदिर के अलावा उत्तरी हरिद्वार में होने वाले कई कार्यक्रम रद हो गए हैं।  मंगलवार को लोग श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का व्रत रखा। वहीं संन्यासी और वैष्णव संप्रदाय से जुड़े लोग बुधवार को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी मनाएंगे। इस साल मंदिरों में भी प्रसाद चढ़ाने पर रोक लगाई गई है। एसएसपी सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस ने बताया कि पुलिस लाइन ,में हर साल जन्माष्टमी के दिन होने वाले कार्यक्रम को रद किया गया है।