श्रीमद् भागवत कथा के माध्यम से हमारी युवा पीढ़ी में संस्कारों का समावेश होता है
March 20, 2020 • Sharwan kumar jha

हरिद्वार। श्री राधा रसिक बिहारी भागवत परिवार द्वारा श्री हनुमान मंदिर, रामनगर हरिद्वार में आयोजित हो रही श्रीमद् भागवत कथा में निरन्तर श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ रहा है। कथा के पांचवें दिवस कथाव्यास पवनकृष्ण शास्त्री ने कहा कि श्रीमद् भागवत कथा श्रवण से मनुष्य जीवन को सार्थक दिशा मिलती है। मनुष्य जीवन में ईश्वर को जो कार्य कराना होता है। वह उसके निमित मनुष्य का चयन करते हैं। कर्म हमारे जीवन में प्रधान होता है। उसके लिए भी हरि इच्छा होना आवश्यक है। पवनकृष्ण शास्त्री ने कहा कि भगवान कृष्ण ने दूध का महत्व संसार को बताने के लिए अपनी मित्र मण्डली के साथ नंद गांव में दूध और माखन की चोरी की। उसका आशय यह संदेश देना था कि दूध और माखन पर पहला हक बच्चों का होता है। उन्हांेने गोधन व गौवंश को प्रतिष्ठित करने का काम अपनी बाल लीलाओं में किया। इस अवसर पर पार्षद अनिरूद्ध भाटी ने कहा कि तीर्थनगरी में मां गंगाजी का पावन तट और हनुमान मंदिर के प्रांगण में आयोजित श्रीमद् भागवत कथा विशेष फलदायी होती है। श्रीमद् भागवत कथा के माध्यम से जहां हमें सांसारिक जीवन में देवत्व की प्राप्ति होती है वहीं हमारी युवा पीढ़ी में संस्कारों का समावेश होता है। क्षेत्रीय पार्षद रेणु अरोड़ा ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि श्री राधा रसिक बिहारी भागवत परिवार द्वारा सामूहिक प्रयास से श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन किया गया है जिसमें कथा व्यास पवनकृष्ण शास्त्री द्वारा भावपूर्ण शैली में श्रीमद् भागवत कथा श्रवण करायी जा रही है। भविष्य में विशाल रूप में श्रीमद् भागवत कथा आयोजन का संकल्प सभी आयोजकों ने लिया है। इस अवसर पर मुख्य रूप से पार्षद राजेश शर्मा, अनिरूद्ध भाटी, विनित जौली, भाजपा मण्डल अध्यक्ष कनखल मयंक गुप्ता, सुनील पाण्डे, योगेन्द्र सैनी, पीएस गिल, बबीत वशिष्ठ, पूर्व सभासद शशिकांत वशिष्ठ, मां गंगा भागीरथी व्यापार मण्डल के अध्यक्ष सूर्यकान्त शर्मा, हेमा भण्डारी, रिया अरोड़ा, विशाल गर्ग, पं. अधीर कौशिक, ठाकुर विक्रम सिंह नाचीज, सचिन अग्रवाल, रूपेश शर्मा समेत सैकड़ों श्रद्धालुजन उपस्थित रहे।