ALL political social sports other crime current religious administrative
तीर्थ पुरोहितों का धरना 17वें दिन भी जारी,राज्य आंदोलनकारी समिति ने दिया समर्थन
October 7, 2020 • Sharwan kumar jha • other

हरिद्वार। तीर्थ पुरोहितों द्वारा हरकी पैड़ी पर बह रही गंगा जल की धारा को स्कैप चैनल घोषित करने वाले शासनादेश को वापस लेने की मांग को लेकर चल रहा धरना सत्रहवें दिन भी जारी रहा। बुधवार को उत्तराखंड राज्य आन्दोलनकारी संघर्ष समिति के अध्यक्ष जगत सिंह रावत, कार्यवाहक अध्यक्ष सतीश जोशी, महामंत्री तेज सिंह रावत, गोपाल दत्त जोशी, गोपाल सिंह बिष्ट, के.एस रावत ने हरकी पैड़ी पर चल रहे धरना स्थल पर पहुँच कर तीर्थ पुरोहित समाज को समर्थन दिया। शासनादेश को वापस लेने की मांग को लेकर तीर्थ पुरोहित समाज ने कुशा घाट पर शंखनाद कर व घंटे घड़ियाल बजाकर प्रदर्शन किया व हरकी पैड़ी तक पद यात्रा निकाली। जिसमें तीर्थ पुरोहितों के साथ गंगा प्रेमी भी सम्मिलित हुए। धरने को संबोधित करते हुए वैदिक विद्वान पंडित आशीष गौतम ने कहा के लज्जा का विषय है कि मां गंगा को साढ़े तीन वर्षों से स्कैप चैनल कहा जा रहा है और सरकार इस विषय पर विचार तक नहीं कर रही। जो कि दुर्भाग्यपूर्ण है। जिसे तीर्थ पुरोहित समाज बर्दाश्त नहीं करेगा। सरकार इस शासनादेश को अतिशीघ्र निरस्त करे। हरिओम जयवाल ने कहा कि सरकार को ये अधर्म से बचना चाहिए। धरना स्थल पर सौरभ सिखौला, अनिल कौशिक, उमाशंकर वशिष्ठ, आशीष गौतम, विनीत दलाल, शंकर निगारे, राजू बख्शी, अधीर कौशिक, गौरीशंकर, हरीतोष, शिवांश शर्मा, उमेश कुमार लूतिये, मोहन लाल जादूगर, पुनीत झा, सिद्धार्थ त्रिपाठी, अनुपम जगता, विकास सुकखनराजा, संजय बेगमपुरीया, चंद्रवर्धन शर्मा, अखिलेश सिखौला, मोहित गोस्वामी, मधुसूदन सरदार, शोभित शर्मा, प्रदीप निगारे, उमाकान्त सरदार, पं. पवन कृष्ण शास्त्री, अरविंद मिश्रा, गोपाल अल्हड़, मयंक पुरोहित, शिवम् जयवाल सहित कई पुरोहित मौजूद रहे।