ALL political social sports other crime current
टिहरी,रूद्रप्रयाग तक जाने वालों के लिए विशेष बस को किया रवाना
March 23, 2020 • Sharwan kumar jha

हरिद्वार। कोरोना वायरस के चलते मुंबई से नौकरी छोड़कर करीब 90 लोग हरिद्वार पहुंचे। यहां टिहरी, रुद्रप्रयाग तक जाने के लिए कोई वाहन नहीं था। पुलिस और उच्चाधिकारियों के अनुरोध के बाद परिवहन निगम ने यात्रियों को दो बसों से ऋषिकेश तक भिजवाने की व्यवस्था की। जबकि मंगलवार की बीती रात भी आठ बसों से लोगों को भेजा गया। कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने हरिद्वार में फंसे उत्तराखंड के यात्रियों को घर तक भिजवाने के निर्देश जिलाधिकारी को दिए थे। जिसके बाद रविवार बीती रात आठ बसें अलग-अलग पर्वतीय इलाकों तक छोड़ने के लिए रवाना हुईं। टिहरी, रुद्रप्रयाग, नीलकंठ आदि पर्वतीय क्षेत्रों के लोग महाराष्ट्र, मुंबई में होटल में कैटरिंग का काम करते हैं। वहां लॉकडाउन के बाद इन्हें होटल से घर जाने के लिए बोल दिया गया। 21 मार्च को वहां से चलने के बाद सोमवार को ये लोग हरिद्वार बस अड्डा पहुंचे। लेकिन यहां से बस, ट्रेन समेत कोई साधन न होने से यहीं भटकते रहे। जिसके बाद मायापुर चैकी इंचार्ज संजीत कंडारी ने उच्चाधिकारियों से इस बारें में बात की। इसके बाद दो बसों से इन्हें ऋषिकेश तक छोड़ने का इंतजाम किया गया। बस अड्डे के वरिष्ठ केंद्र प्रभारी रामकुमार रावत ने बताया कि उच्चाधिकारियों के निर्देश पर बसें भेजी गई हैं। बस रवाना होने से पहले रोडवेज अधिकारी और पुलिस ने बसों को सेनेटाइज कराया। इसके बाद यात्रियों को बैठाकर बस रवाना की गई। स्टेशन परिसर सील कियाहरिद्वार रेलवे स्टेशन के सभी प्रवेशद्वारों पर बेरिकेड्स लगाकर सील कर दिया गया। परिसर में स्टाफ को छोड़कर किसी को भी प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है।