ALL political social sports other crime current religious administrative
व्यापारियों ने की बिना परमिशन राज्य की सीमा खोलने की मांग,आर्थिक पैकेज दें सरकार
September 12, 2020 • Sharwan kumar jha • other

हरिद्वार। प्रदेश व्यापार मण्डल की बैठक में व्यापारियों ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से राज्य की सीमा बिना किसी परमिशन के खोले जाने, कुम्भ का भव्य आयोजन व व्यापारियों के लिए आर्थिक पैकेज जारी करने की मांग की। टिहरी विस्थापित कालोनी में आयोजित बैठक को सम्बोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष संजीव चैधरी ने कहा कि दिल्ली, गोवा व उत्तर प्रदेश सहित लगभग पूरा देश खुला हुआ है। केवल उत्तराखण्ड में दूसरे प्रदेशों के लोगों को सीमित संख्या में आने का प्रावधान लागू किया गया है। उत्तराखण्ड पूरी तरह धार्मिक पर्यटन पर आश्रित है। चारधाम यात्रा व अन्य धार्मिक आयोजनों से प्रदेश की अर्थव्यवस्था संचालित होती है। मार्च में लाॅकडाउन किए जाने के बाद से अब एक दुकानें, होटल व टैक्सी संचालन आदि गतिविधियां  बंद हैं। ऐसे में व्यापारियों की आर्थिक हालत बेहद खराब हो चुकी है। सरकार को व्यापारियो के संकट को समझना चाहिए और व्यापारियों के साथ वार्ता करनी चाहिए। यदि अभी भी प्रदेश की सीमाएं ना खुली और कुम्भ का आयोजन ना हुआ तो आर्थिक रूप से टूट चुका व्यापारी पूरी तरह बर्बाद हो जाएगा। उन्होंने मांग करते हुए कहा कि सरकार व्यापारियों को तुरंत आर्थिक सहायता उपलब्ध कराए वरना व्यापारी की हालत भीख माँगने जैसी हो जाएगी। विधानसभा अध्यक्ष ओमप्रकाश शर्मा व व्यापारी नेता सुधीश ने कहा कि जब पूरा देश खुल गया है तो उत्तराखंड को भी बिना शर्त खोला जाना चाहिए। बैठक में शहर अध्यक्ष शिवालिंक नगर विभास सिन्हा, मनमत भाटिया, अशोक उपाध्याय, जिला उपाध्यक्ष कुलवंत चड्ढा, महानगर संगठन मंत्री राजीव शर्मा व दीपक नेगी, अध्यक्ष पावधोई बिलाल, अध्यक्ष पुलजटवाड़ा अनिल तेश्वर, अध्यक्ष पीएसी रोड विरेंद्र शर्मा, अध्यक्ष रावली महदुद सरदार कोमल सिंह, अध्यक्ष पीपलेश्वर विनीत चैहान, सुनील काँगड़ा, संजीव कुमार,अरविन्द चैधरी, सुरेश मखीजा, विजय धिमान, आकाश सैनी, दीपक काला, मिथलेश वर्मा व शिवम् त्यागी आदि मौजूद रहे।