ALL political social sports other crime current religious administrative
व्यापारियों ने की जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर लाइसेंस शुल्क खत्म करने की मांग
July 14, 2020 • Sharwan kumar jha • other

हरिद्वार। शिवालिक नगर व्यापार मंडल(चैधरी) ने सोमवार को जिलाधिकारी से मिलकर उन्हें एक ज्ञापन सौंपा। व्यापारियों ने शिवालिक नगरपालिका क्षेत्र में लाइसेंस शुल्क समाप्त करने और एक सामान कर नीति के तहत कूड़े को लेकर 50 रुपए लेने की मांग की है। ज्ञापन में व्यापारियों ने बताया कि शिवालिक नगर पालिका व्यापारियों से कूड़े के नाम पर मनमाना शुल्क वसूल रही है। 100 रुपए से 1000 रुपए तक अलग अलग संस्थानों से शुल्क लिया जा रहा है। जिन व्यापारियों के अपने घरों में दुकान या अन्य प्रतिष्ठान हैं वहां पर घर या दुकान एक ही से शुल्क लिया जाना चाहिए। नगर पालिका नर्सिंग होम से एक हजार रुपए माह कूड़े के नाम पर शुल्क ले रही है जबकि ये नर्सिंग होम एमपीसीसी संस्था को मेडिकल वेस्ट का हर माह 33 सौ रुपए दे रही हैं। व्यापारियों ने नगर पालिका क्षेत्र में लगने वाले लाइसेंस शुल्क को पूरी तरह समाप्त करने की मांग की है। व्यापारियों ने जिलाधिकारी को बताया कि शिवालिक नगरपालिका गठन के दौरान मुख्यमंत्री आगामी दस साल तक गृह कर न लगने का ऐलान किया था। ज्ञापन में प्रशासन द्वारा साप्ताहिक बंदी के निर्णय का स्वागत करते हुए बंदी के दिन बाजार को सेनेटाइज कराने की मांग की गई है। व्यापारियों ने कहा कि शिवालिक नगरपालिका बाजारों को सेनेटाइज नहीं कर रही है। जिससे संक्रामक रोग फैलने का भय बना हुआ है। मांग पत्र में शिवालिक नगरपालिका क्षेत्र में कोचिंग सेंटरों को खोलने की मांग की गई है। ज्ञापन देने वालों में अध्यक्ष विभास सिन्हा, ऋषब शर्मा, रवि वर्मा, विवेक गुप्ता, शिवेश गुप्ता, प्रभात तिवारी, समीर अग्रवाल, प्रवीण तिवारी, विपिन, राजेश कुमार, आई आर दुग्गल, आजम सलमानी, सुमित पाल सिंह, अशोक उपाध्याय, हिमांशु माहेश्वरी आदि शामिल रहे।