ALL political social sports other crime current religious administrative
व्यक्ति अपने खान-पान व्यवहार को ठीक कर ले तो किसी प्रकार का संक्रमण नही होगा
April 30, 2020 • Sharwan kumar jha • religious

हरिद्वार। गीता विज्ञान आश्रम परमाध्यक्ष महामंडलेश्वर स्वामी विज्ञानानंद सरस्वती ने कहा है कि सृष्टि की संरचना सत्य पर आधारित है और पैसा परमात्मा से बढ़कर नहीं होता है। पैसे बालों के पतन का समय आ रहा है क्योंकि जहां अधिक धन है वही संक्रमण बढ़ रहा है बे आज दक्षनगरी के श्री गीता विज्ञान आश्रम से विश्व स्तर पर फैल रही संक्रमण की बीमारी से सावधान रहने का संदेश दे रहे थे। अनीति पूर्ण ढंग से अर्जित धन को पतन का कारण बताते हुए उन्होंने कहा कि भारत कृषि प्रधान देश है जहां 70 फीसदी आबादी कठोर परिश्रम कर खाद्यान्न का उत्पादन करती है। यही कारण है कि संपूर्ण भारतवर्ष के किसी भी गांव से कोरोना जैसे वायरस के संक्रमण का समाचार नहीं आया। आवश्यकता से अधिक धन को ही पतन का कारण बताते हुए उन्होंने कहा कि जिसके पास अधिक धन होगा उसी का अधिक पतन होगा। धनी देशों तथा धनाढ्य शहरों में बढे संक्रमण से सचेत करते हुए उन्होंने कहा कि समाज का प्रत्येक व्यक्ति अपने खान-पान और व्यवहार को संयमित कर ले तो उसके जीवन को इस प्रकार के संक्रमण का कोई खतरा नहीं होगा। वर्तमान समय कलयुग की समाप्ति का समय चल रहा है। जिसमें केवल सदाचारी व्यक्ति ही बचेंगे और पापियों का नाश हो जाएगा। कलयुग के बाद सतयुग का प्रारंभ काल बताते हुए उन्होंने कहा कि धर्म के चार गुण और चरण होते हैं। जिसके अंदर यह गुण होगे वही सतयुग में प्रवेश करेगा।