ALL political social sports other crime current religious administrative
यात्रियों को रखने में होटलो द्वारा नियमों के उल्लघंन की जिलाधिकारी से शिकायत
June 15, 2020 • Sharwan kumar jha • other

हरिद्वार। होटल व धर्मशालाओ द्वारा नियमो का उल्लंघन कर यात्रियों को ठहराने के संबंध मे भाजपा नेता पूरन पांडे ने जिलाधिकारी को पत्र भेजकर शिकायत दर्ज करायी है। शिकायत में पूरण पांडेय ने आरोप लगाया है कि उत्तरी हरिद्वार स्थित गली मोहल्ले में खुले अधिकांश होटल धर्मशालाओं द्वारा सरकार व जिला प्रशासन द्वारा जारी की गई गाइडलाइन के विपरीत यात्रियों से मनमाना किराया वसूल कर कमरे दिए जा रहे हैं। जिससे केंद्र व राज्य सरकार द्वारा कोरोना वायरस के फैलाव पर अंकुश लगाने के प्रयासों को पलीता लग रहा है। उन्होंने पत्र में कहा कि दिनभर हाइवे पर फोर सीटर गाड़ियों में 5 से 6 यात्री बिना मास्क बेवजह चक्कर काटते देखे जा सकते हैं। साथ ही शाम होते ही गंगा घाटों पर शराब पीकर हुड़दंग मचाना व देर रात तक कालोनियों में बेवजह घूमना भी आम बात है। अगर कोई टोकाटाकी करता है तो वह गाली गलोच व हाथापाई पर उतर आते हैं। होटल धर्मशाला संचालकों, मालिकों से शिकायत करने पर वह उच्च संपर्कों का हवाला देकर शिकायतकर्ता को ही धमकाने लगते है। जिस कारण स्थानीय निवासी डरे सहमे रहते हैं। स्थानीय चैकी प्रभारी को सूचना देने पर यथासंभव कार्यवाही व चालान किये जा रहे हैं। परंतु स्टाफ की कमी व मामूली जुर्माने के कारण संचालक बाज नही आ रहे हैं। पूरण पांडेय ने मांग की है कि होटल, धर्मशाला संचालकों, मालिकों के विरुद्ध महामारी अधिनियम 1897 के तहत कठोर दंडात्मक कार्यवाही की जाये। ताकि कोई प्रतिष्ठान दोबारा नियम विरुद्ध कार्य करने का साहस न कर सके। स्थानीय नागरिक तो समाज व अपने परिवार की सुरक्षा हेतु यथासंभव नियमो का पालन करता है। परंतु नियम तोड़ने वाले बाहर से आये व्यक्तियों पर प्रशासन उन्हें मेहमान बताकर नरम रुख अपना लेता है जो कि इस कोरोनकाल मे घातक सिद्ध हो सकता है।