ALL political social sports other crime current religious administrative
यूपी सेतुनिगम के प्रोजेक्ट मैनेजर ने आत्महत्या नही की,हुई थी हत्या,पुलिस जांच में जुटी
July 27, 2020 • Sharwan kumar jha • crime

हरिद्वार। उत्तर प्रदेश सेतु निर्माण निगम के प्रोजेक्ट मैनेजर की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के मामले में नया मोड़ आ गया है,पहले इसे आत्महत्या कहा जा रहा था,लेकिन  पोस्टमार्टम रिपोर्ट में आया है कि प्रोजेक्ट मैनेजर ने आत्महत्या नहीं की, बल्कि उसकी हत्या हुई है। पुलिस के शक की सुई परिवार के इर्द-गिर्द ही घूम रही है। बहुत जल्द इस मामले का पर्दाफाश होने की उम्मीद भी जताई जा रही है। गौरतलब है कि उत्तरी हरिद्वार से लालतप्पड के बीच फोरलेन निर्माण का कार्य संभाल रहे हाथरस उत्तर प्रदेश निवासी अमरदीप चैहान की 23 जुलाई को ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र के जूर्स कंट्री के फ्लैट में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। अमरदीप यहां हरिद्वार ज्वालापुर जुर्स कंट्री में अपनी पत्नी और बच्चे के साथ रह रहे थे। उनकी पत्नी ने पुलिस को सूचना दी कि अमरदीप चैहान ने आत्महत्या कर ली है। पुलिस के मुताबिक सूचना मिलते ही ज्वालापुर पुलिस मौके पर पहुंची तो अमरदीप का शव एक कमरे में पड़ा हुआ था। पूछताछ में पत्नी ने यह दावा किया था कि रात में उनका अपने पति से विवाद हुआ था। इसीलिए पति ने आत्महत्या की है, लेकिन चूंकि अमरदीप का शव नीचे फर्श पर पड़ा मिला था। इसलिए यह कहानी पुलिस के गले नहीं उतर रही थी। पुलिस ने शव का  पोस्टमार्टम कराया। सोमवार को रिपोर्ट मिलने पर सामने आया कि अमरदीप की मौत दम घुटने से हुई है। गले में कुछ निशान भी मिले थे, जिससे पुलिस को शक हो गया है कि अमरदीप का गला दबाकर उसकी हत्या की गई है। इससे एक रात पहले अमरदीप का झगड़ा भी हुआ था। पुलिस को किसी परिचित और सगे संबंधियों पर ही शक है।