ALL political social sports other crime current religious administrative
युवक की हत्या के मामले में पुलिस की जांच मे जुटी,पोस्टमार्तम में मौत का कारण स्पष्ट नही
May 7, 2020 • Sharwan kumar jha • crime

हरिद्वार। सिडकुल महादेवपुरम कॉलोनी में हुई कर्मचारी की हत्या के मामले में पुलिस ने फरार पड़ोसी दंपति को क्लीन चिट दे दी है। लेकिन एक मामा और भांजा पुलिस की रडार में आ गए है। अंतिम बार सिडकुल कर्मचारी से मामा ने ही फोन पर बातचीत की थी। कर्मचारी और मामा भांजा ने बीते सोमवार को पार्टी भी की थी। उधर पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कर्मचारी के चेहरे पर केमिकल डालने की पुष्टि नहीं हुई है। शव को कई दिन हो जाने के कारण मौत का कारण भी स्पष्ट नहीं हो सका है। इसी कारण पुलिस ने बिसरा सुरिक्षत रखा गया है। बीते बुधवार को सिडकुल के महादेवनगर कुमार स्थित एक कमरे में अयोध्या स्थित सिकंदपुर सिरासा निवासी अवधेश कुमार 32 पुत्र राम आसरे का शव पुलिस को मिला था। प्रथमदृष्टया हत्या का मामला प्रतीत होने पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखा था। गुरुवार को आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या का कारण स्पष्ट नहीं हो सका। क्योकि अवधेश की मौत सोमवार को हो चुकी थी और उसका चेहरा और शरीर गलना शुरू हो गया था। सोमवार को ही महादेवनगर कॉलोनी निवासी एक दंपति फरार हो गए थे। पुलिस ने गुरुवार को दंपति को पकड़ कर पूछताछ की। दंपति ने पुलिस को बताया कि एक मामा और भांजे के साथ सोमवार को अवधेश कमरे में आया था। कमरे में मामा रहता था। मामा और भांजे को दंपति ने घर से बाहर जाते हुए भी देखा था। डर के कारण दंपति वहां से चले गए थे। पुलिस ने मामा और भांजा की तलाश शुरू कर दी है। बताया जा रहा है कि मामा और अवधेश में दोस्त थी। तीनों ने सोमवार को पार्टी भी की थी। अवधेश की सोमवार की अंतिम दो कॉल मामा और भांजा को ही की गई है। मामा और भांजा में शामिल एक युवक सिडकुल कर्मचारी अवधेश की पत्नी के साथ एक कंपनी में काम करता है। इस मामले में एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय ने बताया कि आसपास वालों से पूछताछ की जा रही है। कुछ संदिग्ध लोगों के नाम सामने आ रहे हैं। जल्द ही उनको हिरासत में लेकर पूछताछ की जाएगी।